Reserve Bank Of India : भारत में RBI किस तरह से नोट छपता है , भारतीय मुद्रा के जानकारी

Reserve Bank Of India किस तरह से है नोट छपता है ?

Reserve Bank of India किस तरह से नोट छपता है
भारत में पैसा कैसे छापा जाता है

Reserve Bank Of India द्वारा संचालित भारत मुद्रा कहे यह इंडियन करेंसी या फिर पैसा रुपया देखना है सब कोई एक जैसा है । आज का समय में देश का सारा कारोबार इसी पर टिका है अरे कहना भी गर्लफ्रेंड सही होगा क्योंकि इन नोटों के द्वारा आपके और हमारे जिंदगी कॉल करो से चल रहे हैं । आज के सच्चाई यही है क्या हमसे देखने वाले नोटों के Value काफी ज्यादा होती है ‌। इसीलिए इन्हें जिस तरह से मनाया जाता है मैं तेरी का अपने अपना बहुत खास होता है और साथ ही प्रभावी बनाने के लिए इनमें के सरा सिक्योरिटी फीचर्स भी होते हैं , नकली और असली नोट की पहचान भी हैं इनसे होती है ।

Also Reed :

Top 10 Nifty 50 Companies List

Union Bank ATM Pin Generate Kaise Kare?

असली और नकली नोट कैसे पहचाने ?

गांधी जी की फोटो सो लेकर रंग और RBI लिखा हुआ पट्टी जैसे कई चीजें हैं जो एक नोट की पहचान होते हैं । इस नोट कॉल कृष्ण बनाने के लिए कैसा रहा पिक्चर्स बदलता रहता है । और इस नोट को बनाने वाला सारा टेक्निक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया और कमेंट के पास रहता है । नोट को बनाने के लिए कि सारा पेपर की शादी का इस्तेमाल किया जाता है जो कि कोई साधारण इंसान से नहीं बना सकता ।

नोट छापने में कितना पैसा खर्चा होता है ?

गुलाबी रंग का लिखने वाला 2000 का नोट जिसे छापने के लिए ₹4 का खर्च आता है , ₹500 नोट को बनाने के लिए ₹2.65 खर्च होता है । ₹200 नोट पर ₹2.48 पैसा का खर्च आता है । ₹100 का नोट से पैसा का खर्च आता है । ₹50 नोट के लिए ₹1.22 रसिया पैसा खर्चा होता है और 20 और ₹10 पैसा बनवाने के लिए ₹1 का खर्च आता है । नई नोट में सपने में जो खर्चा आता है वह पुराना नोट में कम है ।

नोटों की छपाई कहां और कैसे होती है ?

नोट छापने का काम इतना सिक्योर और प्राइवेट रखा जाता है कि इसकी खबर बहुत ही कम लोगों के पास आ जाता है । जो भी इंडियन करेंसी की तौर पर भारत पर नोट छाप रही है वह भारत सरकार और Reserve Bank of India ऑर्डर कहीं छापा जाता है । इन सारे नोट को छापने के लिए सरकारी मशीन कोई इस्तेमाल किया जाता है अरे यह तो इस बारे में चार जगह में छापा जाता है । Nashik, Salboni , Mysore ,Dewas मैं छापा जाता है । यह वह जगह है जहां पर खास तरह का कागज पार एक Switzerland की कंपनी द्वारा बनाई गई Ink मदद से नोटों की छपाई होती है ‌।

नोट छापने के समय अलग-अलग इंक का अलग-अलग इस्तेमाल किया जाता है । Intaglio Ink , Fluorescent Ink , Optical Veriable Ink होती है । नोट छापने के समय में हर बार कुछ न कुछ बदलाव करते हैं ताकि किसी को कानों कान खबर ना पड़े ।

Intaglio Ink का काम क्या होता है ?

भारत के नोट के सबसे बड़ी पहचान की बात करें तो महात्मा गांधी जी का वो कागज का टुकड़ा जिसमें सबसे ज्यादा इंपोर्टेंट है गांधी जी की तस्वीर ‌। Intaglio Ink का इस्तेमाल सिर्फ और सिर्फ गांधी जी का चेहरा बनाने के लिए किया जाता है ।

Fluorescent Ink का काम क्या होता है ?

दुकान से लेकर बयान जाने का कहीं पर मान्यता नहीं मिलता है और इसी की वजह से नोटों को ट्रक में क्या जाता है । नोटों पर छपने वाला यूनिक नंबर जिसे Identity Of Currency कहते हैं । Fluorescent Ink का इस्तेमाल यूनिक नंबर को छापने के लिए किया जाता है यानी कि नोट में ओपन नंबर की पेनल्टी छापने के लिए किया जाता है ।

Optical Veriable Ink का काम क्या होता है ?

नोट को और आतंरिक बनाने के लिए Optical Veriable Ink का इस्तेमाल किया जाता है ‌, ताकि इस नोट को और कोई कॉपी करके फ्रेश आना कमा सके ।

RBI से जुड़े सवाल की जवाब जानी है ?

कौन से कागज से नोट छपा जाता है ?

नोट छापने के लिए सबसे मेन भूमिका है कागज का और इस तरह का का कुछ बनाने के लिए दुनिया में 4 देश है और कैसे बनाने के लिए एक आधुनिक मशीन का उपयोग किया जाता है । विदेशों का साथ-साथ अपने देश की मध्य प्रदेश के होशंगाबाद और महाराष्ट्र में भी इस कागज का मैन्युफैक्चरिंग होती है । इनका को जो को बनाने के लिए खास कॉटन का इस्तेमाल किया जाता है वर्ष के बाद एक और कॉटन को सरकारी मैसेज में भेज देते हैं , जहां इसे अर्चन किया जाता है और इससे प्रिंटिंग मशीन में छुपने के लिए छोड़ जाते हैं ।

सरकार के निर्देशन चाहिए जितना नोट छापने का अनुमति मिलता है उतना नोट छाप दिया जाता है और उसे RBI के ऑफिस पर जमा करवा देते हैं । इसमें सबसे ज्यादा हाईली सिक्योरिटी का इस्तेमाल किया जाता है ताकि कोई भी इंसान चाह कर भी नोट का इस्तेमाल ना कर पाए । इन सारे नोटों को Reserve Bank of India के अलग-अलग ऑफिस में भेज दिया जाता है । पूरे देश में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का 18 Office है । इन सारे नोटों को डस्ट से वजन के हिसाब से बाकी सारे बैंक में भेजा जाता है ।

आज भी नोट छापने का जानकारी देश में किसी के पास नहीं है , अगर जानकारी हो भी जाती है तो वह भी किसी काम के नहीं क्योंकि RBI इन सारे प्रिंटिंग Process को चेंज करता रहता है ।

शेष भाग :

आज आपको आशा करते हैं भारतीय मुद्रा के जानकारी मिल चुका है इन नोट के बारे में अगर आपको जानकारी अच्छा लगा तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि उन लोगों को भी पता चले हमारे भारत देश में नोट छपाई किस तरह का होता है । Reserve Bank of India के द्वारा छापा गया नोट का इस्तेमाल हम अपने हर दिन व्यवहार करते आए हैं ।

भारतीय रिजर्व बैंक – अक्सर पूछने वाला प्रश्न

Q Reserve Bank of India कितना पैसा छाप सकती है ?

Ans : नोट छापने वाला काम रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के द्वारा किया जाता है और इनमें से ₹1 वाला नोट भारत सरकार छपता है और बाकी नोट सारे रिजर्व बैंक के द्वारा छापा जाता है ।

Q India मैं कितना जगह नोट छापा जाता है ?

Ans : देश के चार जगह में नोट छपा जाता है और इन नोटों को छापने के लिए सरकारी ही मशीन का इस्तेमाल किया जाता है ।

Q Reserve Bank of India ज्यादा नोट क्यों नहीं जा सकता है ?

Ans : अगर आरबीआई के द्वारा ज्यादा नोट छापा जाएगा तो नोट की वैल्यू कम हो जाएगी और सरकार जितना ज्यादा नोट छापने का अनुमति देगा उतना महंगा ही बढ़ेगा ।

Q 1 साल में Reserve Bank of India कितना पैसा छपता है ?

Ans : RBI के मुताबिक हर साल करीब 4 करोड़ नोट छापने में ही खर्च हो जाता है ।

Q नोट छापने का मशीन का नाम क्या है ?

Ans : Stock ST-MC05-1

Leave a Comment